Stree Movie Real Story- ''स्त्री'' मूवी की सच्ची कहानी एक चुड़ैल कि दहशत में था पूरा गांव। - CHAL WAHAN JAATE HAIN

Latest

Tuesday, April 21, 2020

Stree Movie Real Story- ''स्त्री'' मूवी की सच्ची कहानी एक चुड़ैल कि दहशत में था पूरा गांव।


Chudail Ki Kahani

Stree horror story in hindi - यह कहानी है साल 1984 की जब कर्नाटक राज्य कि राजधानी बैंगलौर के एक छोटे से गांव पनवारी की।जहाँ हर रात कोई न कोई मर्द गायब हो रहा था जिस घटना ने पनवारी गांव के आस पास के लोगों के दिलों में अपनी दहशत बिठा दी थी। Haunted Stories कहा जाता है की यहाँ लाल रंग की साड़ी पहने हुए एक चुड़ैल रात के समय में इस गांव के लोगों के घरों का दरवाजा खटखटाती थी और घर के किसी मर्द का नाम उसी के परिवार के किसी सदस्य की आवाज में लेकर उसे पुकारती थी और अगर कोई भी इंसान उस Chudail के झाँसे में आकर दरवाजा खोल देता था तो वह उसे अपने वश में करके अपने साथ ले जाती थी जिसके बाद उस शख्स का कोई पता नहीं चलता लोगों का कहना था की यह चुड़ैल उन लोगों को अपने साथ कहीं ले जाकर मार देती है। उस समय यह घटना True Haunted Stories इतनी प्रचलित थी की साल 2018 में फिल्म स्त्री भी इस ही सत्य घटना पर बनायीं गयी है। जिसमें अभिनेत्री श्रद्धा कपूर और अभिनेता राजकुमार राव मुख्य भूमिका में नज़र आये हैं।   



Chudail ki kahani





True Haunted Stories - उस चुड़ैल का शिकार बन चुके लोगों में से ही एक थे नागेश जिनकी उम्र 32 साल थी और अपने परिवार के साथ पनवारी गांव में रहा करते थे। एक रात जब वह अपने घर में सो रहे थे तब उन्हें एहसास हुआ की उनकी माँ ज़ोर ज़ोर से दरवाज़ा खटखटा रही हैं और उन्हें पुकार रही हैं। वह चुड़ैल लोगों को उसके परिवार के ही किसी सदस्य की आवाज़ में ऐसे पुकारती थी जैसे वह बहुत तकलीफ में है। यही नागेश के साथ भी हुआ उन्होंने अपनी माँ की घबरायी हुई आवाज़ सुनके हड़बड़ी में दरवाज़ा खोल दिया लेकिन दरवाज़े पर उनकी माँ नहीं बल्कि वही Chudail उनकी मौत की शक्ल में खड़ी थी। दरवाज़ा खुलते ही वह चुड़ैल नागेश को अपने वश में करके अपने साथ ले गयी। इसके बाद से आजतक नागेश का कोई पता नहीं चला। नागेश की ही तरह ऐसे कई लोग थे जिनकी मौत का कारण उस Chudail को ही माना गया। 


Chudail ki kahani



Chudail ki kahani in hindi - धीरे-धीरे पनवारी गांव में इस चुड़ैल के शिकार हुए लोगों की घटनाएं तेज़ी से बढ़ने लगी और इस गांव और आस पास के इलाकों में इस चुड़ैल का डर आग की तरह फैलने लगा। पनवारी गांव और आसपास के निवासी हो या स्थानीय अखबार हर तरफ इस चुड़ैल की ही चर्चा हो रही थी जिससे बचने का कोई भी उपाय किसी के पास नहीं था। 


Haunted Story

Stree Horror Story In Hindi - उस चुड़ैल का खौफ लोगों के दिलों में इस कदर बढ़ चूका था की इस गांव के लोग सूरज ढल जाने के बाद अपने-अपने घरों में खुदको कैद करने लगे फिर चाहें कितना भी ज़रूरी काम क्यों न हो लेकिन इस गांव के लोग अपने-अपने घरों से बहार नहीं निकलते। शाम होने के बाद यह गांव एक वीरान जगह में बदल जाता था । 


Haunted Story


Stree Horror Story In Hindi - एक रात जब एक आदमी और उसका परिवार अपने घर में सुकून से सो रहा था तब उस आदमी को उसके घर के दरवाज़े को खटखटाने की आवाज़ आयी दरवाज़े के खटखाने की आवाज़ से उस आदमी की आँख खुल गयी तभी दरवाजे से उसकी पत्नी की आवाज़ में उस आदमी को पुकारने की आवाज़ आने लगी उस समय वह बहुत डर गया क्यूंकि उसकी पत्नी उस समय उस व्यक्ति के पास ही सो रही थी घबराहट में वह उठा और उसने खिड़की से झांक कर देखा तो उसे दरवाजे पर कोई भी दिखाई नहीं दिया। 


Haunted


Stree Horror Story In Hindi - इसके बाद जैसे ही वह दोबारा सोने के लिए जानें लगा तो उसे घर के दरवाजे से उसकी पत्नी की आवाज़ में दरवाज़ा खोलने के लिए फिर से पुकारा गया।अब वह समझ चुका था की उसकी पत्नी की आवाज़ में उसे वही चुड़ैल पुकार रही है जिसकी पूरे गांव में चर्चा है। उस आदमी ने डरते हुए कहा ''नाले बा'' (Naale Baa) जो की कन्नड़ भाषा का एक शब्द है जिसका हिंदी में मतलब होता है ''कल आना'' इसके बाद दरवाजे से उस आदमी को पुकारने की आवाज़ें आना बंद हो गयी। 


Haunted Nights


Stree Horror Story In Hindi - लेकिन अगली रात उस आदमी के साथ फिर से यही हुआ उसे दोबारा उसके घर के दरवाजे को खटखटाने की आवाज़ आने लगी और उसकी पत्नी की आवाज़ में फिर से उसे दरवाजा खोलने के लिए पुकारा गया और ''नाले बा'' (Naale Baa) कहते ही वह आवाज़ फिर से आना बंद हो गयी। 


Haunted Road

Stree Horror Story In Hindi - चुड़ैल से बचने का यह उपाय पुरे गांव ने अपना लिया और एक समय ऐसा भी आया जब बैंगलोर के लगभग हर घर के दरवाज़े पर लिखा गया था ''नाले बा'' (Naale Baa) जिन लोगों के घरों के बहार ''नाले बा'' (कल आना) लिखा होता था उन लोगों के घरों में ऐसी कोई घटना नहीं होती थी। आज भी इस चुड़ैल का खौफ पनवारी और आस पास के गांव में इतना है की लोग आज भी अपने घरों के बाहर ''नाले बा'' (Naale Baa)इस डर से लिखते हैं कि कहीं वह चुड़ैल फिर से वापस न आ जाये। 

यह भी पढ़ें :- बेगुंकोदोर ऐसा भूतिया रेलवे स्टेशन जिसके भूताह होने की वजह से 42 साल तक यहाँ एक भी ट्रेन नहीं रुकी।



उम्मीद है की आपको मेरी पोस्ट पसंद आयी होगी। यह पोस्ट आपको कैसी लगी कॉमेंट करके ज़रूर बताएं और अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी तो इसे अपने दोस्तों में ज़्यादा से ज़्यादा शेयर ज़रूर कीजियेगा। मेरी हमेशा यही कोशिश रहेगी की मैं आपके लिए ऐसी ही हॉंटेड स्टोरी और टूरिस्ट प्लेसेस के बारे में पूरी जानकारी लाता रहूं और आपको अपडेट करता रहूं। आशा करता हूँ की आप भी इसी तरह अपना प्यार बनाएं रखेंगें जिससे मुझे हमेशा मोटिवेशन मिलता रहेगा। 


Thank you 😊😊

No comments:

Post a Comment